Hindi Shayari

हिंदी में अरमान शायरी

Written by WikiHi

हिंदी में अरमान शायरी | Armaan Shayari in Hindi

Hello Friends, आज के इस पोस्ट Arman Shayari and quotes in Hindi में आप सभी को दी जा रही है कुछ बेहतरीन हिंदी में Armaan शायरी अर्थात Armaan Shayari in Hindi ताकि आप इसे पढ़ सकें और भेज सकें उन लोगों को जिनको इनकी जरुरत हो. तो आइये पढ़ते हैं हिंदी में तन्हाई शायरी.

Arman Shayari in Hindi

तेरी नीली आँखों का मैं काजल बन जाऊं,
तेरी आँखों में आँसू का मैं बादल बन जाऊं,
ख्वाहिश तो मेरी हर पल है इतनी,
तेरे रस्ते के काँटों का मैं चादर बन जाऊं।

 

दिल में उम्मीद की समां जला रखी है हमने अपनी अलग दुनिया बसा रखी है इस उम्मीद के साथ की आएंगे वो कभी हमने हर राह पर अपनी पलकें बिछा रखी है

 

  यूँ ही भटकते रहते हैं #अरमान तुझसे मिलने के,
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है..

 

न भूख है मुझे न दौलत की प्यास बाकी है, 
मिलती रहे हर किसी से मोहब्बत काफी है।

 

मेरे आँखों के ख्वाब, दिल के अरमान हो तुम,
तुम से ही तो मैं हूँ , मेरी पहचान हो तुम,
मैं ज़मीन हूँ अगर तो मेरे आसमान हो तुम,
सच मानो मेरे लिए तो सारा जहां हो तुम।

 

Dil Ke Sare #Armaan Le Jate Hain,
Ham Se #Hamari Pehchan Le Jate hain,

Toot Ke Na Chahna Kisi Ko,
Jaan Kehne Wale Hi Aksar
Jaan Le Jaate Hain… !!!

 

Mann Mein Sabka Armaan Nahi Hota,
Har Koi Dil Ka Mehamaan Nahi Hota,
Par Ek Baar Dil Me Sama Jaye,
Use Bhulana Aasaan Nahi Hota.

 

रूठी जो जिदंगी तो मना लेंगे हम,
मिले जो गम वो भी सह लेंगे हम,
बस आप रहना हमेशा साथ हमारे तो,
निकलते हुए आंसुओं में भी मुस्कुरा लेंगे हम।

 

आरजू ये है की उनकी हर नजर देखा करे वो ही अपने सामने हो हम जिधर देखा करे एक तरफ हो सारी दुनिया एक तरफ तेरी सूरत हो हम तुझे दुनिया से होकर  बेखबर देखा करे

 

   दिल में उम्मीद की समां जला रखी है
हमने #अरमानो की  दुनिया बसा रखी है.

इस उम्मीद के साथ की आएंगे वो कभी
हमने हर राह पर अपनी पलकें बिछा रखी है..

 

जिस चीज़ पे तू हाथ रख दे वो चीज़ तेरी हो, 
और जिस से तू प्यार करे, वो तक़दीर मेरी हो

 

चाहा है तुम्हें अपने अरमान से भी ज्यादा,
लगती हो हसीन तुम मुस्कान से भी ज्यादा,
मेरी हर धड़कन हर साँस है तुम्हारे लिए,
क्या माँगोगे जान मेरी जान से भी ज्यादा।

 

जब कभी सिमटोगे तुम… मेरी इन बाहों में आकर,
मोहब्बत की दास्तां मैं नहीं मेरी धड़कने सुनाएंगी।

 

अगर हो वक़्त तो मुलाकात कीजिये,
दिल कुछ कहना चाहे कुछ बात कीजिये,
यूँ तो मुश्किल है हमसे दूर रहना,
पर एक लम्हा मिले तो हमें याद कीजिये।

 

कभी कभी हमें भी यूँ ही याद कर लिया करो हमारी तस्वीर भी देख कर उसे चुम लिया करो माना की तुम्हें कमी नहीं है किसी चीज की फिर भी कभी हमें अपनी दुआ में मांग लिया करो

 

काश तुम मुझे एक खत लिख देते मुझमे क्या क्या थी कमी ये तो बता देते तड़पते दिल से मेरे तुमने नफरत क्यों की नफ़रत की ही मुझे कोई वजह तो बता देते

 

   बाद मरने के भी अरमान यही है ऐ दोस्त
रूह मेरी तिरे आग़ोश-ए-मोहब्बत में रहे..

 

छोटे छोटे सपने हैं मेरे, छोटी सी आशा, 
पूरी दुनिया पर हुकूमत हो मेरी बस इतनी सी अभिलाषा।

 

ना सवाल बनके मिला करो,
ना जवाब बनके मिला करो,
मेरी जिंदगी मेरा ख्वाब है,
मुझे ख्वाब बनके मिला करो…

 

तेरी आरजू में सनम हम दीवाने हो गए, 
तुझे अपना बनाते बनाते बेगाने हो गए,

 

अभी अरमान कुछ बाक़ी हैं दिल में
मुझे फिर आज़माया जा रहा है..

 

तेरे हर ग़म को अपनी रूह में उतार लूँ,
ज़िन्दगी अपनी तेरी चाहत में संवार लूँ,
मुलाकात हो तुझसे कुछ इस तरह मेरी,
सारी उम्र बस एक मुलाकात में गुजार लूँ।

 

.तेरे हर गम को अपनी  रूह में उतार लूँ जिंदगी अपनी तेरी चाहत में सवाँर लूँ मुलाकात हो तुझसे कुछ इस तरह मेरी सारी उम्र बस एक मुलाकात में गुजार लूँ

 

इससे पहले कहीं रूठ न जाएँ मौसम अपने,
धड़कते हुए #अरमानों एक सुरमई शाम दे दें ..

 

कर दे एक बार याद अपने दिल से, 
तेरे दिल की आवाज़ सुने ज़माने हो गए।

 

उम्मीदें जुड़ी हैं तुझसे टूटने मत देना, 
दिल एक मोम है पिघलने मत देना, 
दिल ने चाहा है उसे… आज पता चला , 
इस धड़कन को कभी बंद होने मत देना।

 

दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के,
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है।

 

तमन्ना है मेरी की आपकी आरज़ू बन जाऊँ आपकी आँख का तारा ना सही आपकी आँख का आंसू बन जाऊँ मैं आपकी जिंदगी की ख़ुशी बनू या ना बन सकूँ आपके गम में आपका सहारा बन जाऊँ

 

 चाहा है तुम्हें अपने अरमान से भी ज्यादा,
लगती हो हसीन तुम मुस्कान से भी ज्यादा.

मेरी हर धड़कन हर साँस है तुम्हारे लिए,
क्या माँगोगे जान मेरी जान से भी ज्यादा..

 

खुदा करे जिदगी मे हो मकाम आये, 
तुझे भूलने कि दुआ करु पर… 
दुआ मे तेरा नाम आये।

 

अजनबी थी बातें सभी उसके प्यार की नहीं थी खबर एक दिन क़यामत जरूर होगी करते रहे फरियाद उस खुदा से ऐ सनम मिलेगा तू मुझे खुदा की रहमत जरूर होगी

 

आरज़ू, अरमान, इश्क़, तमन्ना, वफ़ा, मोहब्बत,
चीज़ें तो अच्छी है पर दाम बहुत है..

 

उम्मीदें जुड़ी हैं तुझसे टूटने मत देना, 
दिल एक मोम है पिघलने मत देना, 
दिल ने चाहा है उसे आज पता चला , 
इस धड़कन को कभी बंद होने मत देनाI

 

हर एक पहलू तेरा मेरे दिल में आबाद हो जाये, 
तुझे मैं इस क़दर देखूं मुझे तू याद हो जाये…।।

 

यूँ ही भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के,
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है।

 

जिस चीज़ पे तू हाथ रख दे वो चीज़ तेरी हो,
और जिस से तू प्यार करे, वो तक़दीर मेरी हो।

 

कितना दिलकश मंजर हो जब हम क़यामत के दिन करे शिकवा तेरी बेवफाई का और तुम लग के गले से मेरे धीरे से कहो चुप रहो खुदा के लिए

 

दूरिया होते हुए भी सफर वही रहेगा दूर होते हुए भी दोस्ताना वही रहेगा बहुत मुश्किल है ये सफर जिंदगी का अगर आपका साथ होगा तो एहसास वही रहेगा

 

एक रोज तुमसे जरूर मिलेंगे,
दिल के सारे अरमान कहेंगे..

 

हक़ीक़त ना सही तुम 
ख़्वाब की तरह मिला करो, 
भटके हुए मुसाफिर को 
चांदनी रात की तरह मिला करो ।

About the author

WikiHi

Leave a Comment