Hindi Shayari

हिंदी में जिंदगी शायरी

Written by WikiHi

हिंदी में जिंदगी शायरी | Zindagi Shayari in Hindi

Hello Friends, आज के इस पोस्ट में पढ़िए हिंदी में जिंदगी शायरी अर्थात Zindgi Shyari in Hindi.

 

जब रूह किसी बोझ से थक जाती है,
एहसास की लौ और भी बढ़ जाती है,
मैं बढ़ता हूँ ज़िन्दगी की तरफ लेकिन,
ज़ंजीर सी पाँव में छनक जाती है।

 

किसी की मजबूरी का….मजाक ना बनाओ यारों..!!
ज़िन्दगी कभी मौका देती है तो कभी धोखा भी देती है..!!

 

कल न हम होंगे न कोई गिला होगा,
सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिललिसा होगा,
जो लम्हे हैं चलो हँसकर बिता लें,
जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा।

 

यूँ तो मोहब्बत की सारी हकीक़त से वाकिफ है हम,
पर उसे देखा तो सोचा चलो ज़िन्दगी बर्बाद कर ही लेते है..

 

यूँ तो मोहब्बत की सारी हकीक़त से वाकिफ है हम,
पर उसे देखा तो सोचा चलो ज़िन्दगी बर्बाद कर ही लेते है..

हिंदी में जिंदगी शायरी | Zindagi Shayari in Hindi

 

ज़िन्दगी कभी आसान नही होती इसे आसान बनाना पड़ता हे
कुछ नज़र अंदाज करके कुछ को बर्दाश्त करके..!!

 

मौत से कैसा डर… मिनटों का खेल है,
आफत तो जिंदगी है बरसों चला करती है।

 

तुम्हे हक है अपनी जिन्दगी जैसे चाहे जीयो तुम,
ज़रा एक पल के लिये सोचना मेरी ज़िन्दगी हो तुम….॥

 

“पैसा” कमाने के लिये इतना वक़्त⏰खर्च ना करो की,

 

“पैसा” कमाने के लिये इतना वक़्त⏰खर्च ना करो की,

“पैसे” खर्च करने के लिये ज़िन्दगी में वक़्त ही ना मिले।

 

तुझसे कोई शिकायत नहीं है ऐ जिदंगी
जो भी दिया है वही बहुत है।

हिंदी में जिंदगी शायरी | Zindagi Shayari in Hindi

चूम लेता हूँ हर मुश्किल को अपना मान कर मैं,
क्यूँकि ज़िन्दगी कैसी भी है… है तो मेरी ही।

 

घड़ी⏰ की टिक टिक को मामूली न समझो…!
बस यूँ समझ लीजिये ” ज़िन्दगी ” के पेड़ पर कुल्हाड़ी के वार है…

 

घड़ी⏰ की टिक टिक को मामूली न समझो…!
बस यूँ समझ लीजिये ” ज़िन्दगी ” के पेड़ पर कुल्हाड़ी के वार है…

 

दुनिया का सबसे बेहतरीन रिश्ता वहीं होता है

जहाँ एक हल्की सी मुस्कराहट और छोटी सी माफ़ी से ज़िन्दगी दोबारा पहले जैसी हो जाती है..

 

कुछ सही तो कुछ खराब कहते हैं,
लोग हमें बिगड़ा हुआ नवाब कहते हैं,
हम तो बदनाम हुए कुछ इस कदर,
कि पानी भी पियें तो लोग शराब कहते हैं..

 

रब से प्यारा कोई नाम नही होता,
उसकी इबादत से बड़ा कोई काम नही होता,
दुनिया की मोहब्बत मे है रुस्वाई,
पर उसकी मोहब्बत मे कोई बदनाम नही होता..

 

एक अजीब सी दौड़ है ये ज़िन्दगी….
जीत जाओ तो कई अपने पीछे छूट जाते हैं, हार जाओ तो अपने ही पीछे छोड़ जाते हैं ।

हिंदी में जिंदगी शायरी | Zindagi Shayari in Hindi

जिस दिन आपने अपनी जिन्दगी को खुलकर जी लिया,
वही दिन आपका है, बाकी तो सिर्फ केलेंडर की तारीखें हैं।

 

कभी धूप दे… कभी बदलियाँ,
दिलो जान से दोनों क़बूल हैं,
मगर उस नगर में न कैद कर,
जहाँ जिंदगी की हवा न हो।

 

जिन्दंगी को समझना बहुत मुशकिल हैं.
कोई सपनों की खातिर “अपनों” से दूर रहता हैं…..
और , कोई “अपनों” के खातिर सपनों से दूर !

 

मत सोच इतना….
जिन्दगी के बारे में ,
जिसने जिन्दगी दी है…
उसने भी तो कुछ सोचा होगा…!!!

 

खुद की Selfie निकालना सेक़ेन्डों का काम है….

लेक़िन खुद की Image बनानें में जिन्दगी गुजर जाती है।

 

एक साँस सबके हिस्से से हर पल घट जाती है,
कोई जी लेता है जिंदगी किसी की कट जाती है।

 

एक पहचान हज़ारो दोस्त बना देती हैं,
एक मुस्कान हज़ारो गम भुला देती हैं,
ज़िंदगी के सफ़र मे संभाल कर चलना,
एक ग़लती हज़ारो सपने जला कर राख देती है..

 

कुछ उलझे सवालो से डरता हे दिल,
जाने क्यों तन्हाई में बिखरता हे दिल,
किसी को पाने कि अब कोई चाहत न रही,
बस कुछ अपनों को खोने से डरता हे ये दिल..

पनाहो में जो आया हो तो उस पर वार करना क्या,
जो दिल हारा हुआ हो तो उस पर फिर अधिकार करना क्या,
मोहब्बत का मजा तो डूबने की कश्मकस में है,
हो गर मालूम गहराई तो दरिया पार करना क्या..

 

लोग डूबते हैं तो समंदर को दोष देते हैं,
मंजिल न मिले तो मुकद्दर को दोष देते हैं,
खुद तो संभल कर चल नहीं सकते,
जब ठेस लगती है तो पत्थर को दोष देते हैं।

हिंदी में जिंदगी शायरी | Zindagi Shayari in Hindi

शुक्रिया ज़िन्दगी…जीने का हुनर सिखा दिया,
कैसे बदलते हैं लोग चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दिया,
अपने परायों की पहचान को आसान बना दिया,
शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी जीने का हुनर सिखा दिया।

 

“अपनी ‘ज़िंदगी’ मे हर किसी को ‘अहमियत’ दीजिये…”

क्योकी जो ‘अच्छे’ होंगे वो ‘साथ’ देंगे… और
जो ‘बुरे’ होंगे वो ‘सबक’ देंगे….!!!!

 

जिंदगी को इतना सिरियस लेने की जरूरत नही यारों,

यहाँ से जिन्दा बचकर कोई नही जायेगा!

 

ज़िदगी जीने के लिये मिली थी,
लोगों ने सोचने में ही गुज़ार दी….

 

यूँ ना छोड़ जिंदगी की किताब को खुला,
बेवक्त की हवा ना जाने कौन सा पन्ना पलट दे।

 

बारिश में रख दूँ जिंदगी को
ताकि धुल जाए पन्नो की स्याही,
ज़िन्दगी फिर से लिखने का
मन करता है कभी-कभी।

 

जिंदगी को इतना सिरियस लेने की जरूरत नही यारों,

यहाँ से जिन्दा बचकर कोई नही जायेगा!

 

सिर्फ सांसें चलते रहने को ही ज़िंदगी नहीं कहते..
आँखों में कुछ ख़्वाब और दिल में…उम्मीदें होना भी ज़रूरी हैं !!

 

एक प्यारी सी लाईन उलटी या
सीधी कैसे भी पढ़ो अच्छा लगता
है।
” है जिंदगी तो अपने है”

हिंदी में जिंदगी शायरी | Zindagi Shayari in Hindi

अपने दिल को पत्थर का बना कर रखना ,
हर चोट के निशान को सजा कर रखना ,
उड़ना हवा में खुल कर लेकिन ,
अपने कदमों को ज़मी से मिला कर रखना ..

 

मेरी ज़िन्दगी किसी की जागीर नही है,
अन्धेरी कोठरियां मेरी तकदीर नही है,
क्यूं दबाया जाता है हर फैंसले मे मुझको,
क्यूं मेरे हाथो मे किस्मत की लकीर नही है..

 

ज़िंदगी में कभी कभी अपनो
से हारना सीखो,
देख लेना जीत जाओंगे तुम,,,

 

जिन्दगी की हर सुबह कुछ शर्ते लेकर आती है,
और
जिन्दगी की हर शाम कुछ तजुर्बे देकर जाती है…!!

 

जिंदगी में ये हुनर भी आजमाना चाहिए,
अपनों से हो जंग तो हार जाना चाहिए।

 

चेहरे की हँसी से गम को भुला दो,
कम बोलो पर सब कुछ बता दो,
खुद ना रूठो पर सबको हँसा दो,
यही राज है ज़िन्दगी का…
जियो और जीना सिखा दो।

 

हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर,
तुझ पर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,
ना रोते हम यूँ तेरे लिये..
अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता.

 

किसी के दिल में बसना कुछ बुरा तो नही,
किसी को दिल में बसाना कोई खता तो नही,
गुनाह हो यह ज़माने की नजर में तो क्या,
यह ज़माने वाले कोई खुदा तो नही..

हिंदी में जिंदगी शायरी | Zindagi Shayari in Hindi

शाम होते ही वो सूरज से हुकूमत छीन लेता है,
सुबह होते ही वो तारो की कियादत छीन लेता है,
तरीके सीख उसकी ज़मीन पे चलने-फिरने के,
तकब्बूर करने वालों से वो इज्जत और दौलत छीन लेता है..

 

हजारों उलझनें राहों में, और कोशिशें बेहिसाब,
इसी का नाम है ज़िन्दगी, चलते रहिये जनाब!

 

उजड़े हुए ज़माने की याद दिला कर,
मुझे उदास न कर ऐ ज़िन्दगी।

अब नईं मंज़िलों का पता बता,
जो गुजर गया सो गुजर गया।

 

बहुत पहले से उन क़दमों की आहट जान लेते हैं,
तुझे ए ज़िन्दगी हम दूर से पहचान लेते हैं।

 

 

About the author

WikiHi

Leave a Comment