Hindi Messages Hindi Shayari Hindi Status Quotes

हिंदी में याद शायरी

Written by WikiHi

यादें शायरी Yaad Shayari in Hindi

Hello Friends, Is Post me aap sabhi ko yaad-shayari di jayegi wo bhi hindi me.

to aaiye padhte hain hindi me yaad-shayari.

मेरे दिल की मजबूरी को कोई इल्जाम न दे,
मुझे याद रख बेशक मेरा नाम न ले,
तेरा वहम है कि मैंने भुला दिया तुझे,
मेरी एक भी साँस ऐसी नहीं जो तेरा नाम न ले।

तेरे पास से जो गुजरे तो बेखुदी में थे हम,
कुछ दूर जाके संभले तुझे याद करके रोये।

याद शायरी Yaad Shayari in Hindi

नजरें उन्हें देखना चाहे तो आँखों का क्या कसूर,
हर पल याद उनकी आये तो साँसों का क्या कसूर,
वैसे तो सपने पूछकर नहीं आते,
पर सपने उनके ही आये तो हमारा क्या कसूर।

आँखों में कुछ अरमान दिया करते हैं,
हम सबकी नींद चुरा लिया करते हैं,
इतनी बार आप साँस भी न लेते होंगे,
जितनी बार हम आपको याद किया करते हैं।
Missing You …

याद शायरी Yaad Shayari in Hindi

एक अजीब सी जंग छिड़ी है तेरी यादों को लेकर,
आँखे कहती हैं सोने दे… दिल कहता है रोने दे।

वो कह कर गई थी कि लौटकर आऊँगी,
मैं इंतजार ना करता तो क्या करता,
वो झूठ भी बोल रही थी बड़े सलीके से,
मैं एतबार ना करता तो क्या क्या करता।

तेरे इंतजार में कब से उदास बैठे हैं,
तेरे दीदार में आँखे बिछाये बैठे हैं,
तू एक नज़र हम को देख ले बस,
इस आस में कब से बेकरार बैठे हैं।

याद शायरी Yaad Shayari in Hindi

याद करते है तुम्हे तनहाई में,
दिल डूबा है गमो की गहराई में,
हमें मत ढूंढना दुनिया की भीड़ में,
हम मिलेंगे में तुम्हे तुम्हारी परछाई में।

कितने चेहरे हैं इस दुनिया में,
मगर हमको एक चेहरा ही नज़र आता है,
दुनिया को हम क्यों देखें,
उसकी याद में सारा वक़्त गुज़र जाता है।

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,
दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो,
देर हो गयी याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो।

याद शायरी Yaad Shayari in Hindi

बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से,
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से,
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले,
कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से।

ढलती शाम का खुला एहसास है,
मेरे दिल में तेरी जगह कुछ खास है,
तू नहीं है यहाँ मालूम है मुझे पर,
दिल ये कहता है तू यहीं मेरे पास है।

पुरानी यादें शायरी

ज़माने से नहीं तो तन्हाई से डरता हूँ,
प्यार से नहीं तो रुसवाई से डरता हूँ,
मिलने की उमंग बहोत होती है दिल में,
लेकिन मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरता हूँ..

याद करेंगे तो दिन से रात हो जायेगी,
आईने को देखिये हमसे बात हो जायेगी,
शिकवा न करिए हमसे मिलने का,
आँखे बंद कीजिये मुलाकात हो जायेगी..

नजरों को तेरे प्यार से इंकार नहीं है,
अब मुझे किसी और का इंतज़ार नहीं है,
खामोश अगर हूँ मैं तो ये वजूद है मेरा,
तुम ये न समझना कि तुमसे प्यार नहीं है..

क्या करे जब किसी की याद आये,
हर धड़कन पे किसी का नाम आये,
कैसे कटेंगे ये लम्हे इंतज़ार में उसके,
इश्क़ में हर घडी मेरी जान जाये..

कुछ आँसू होते हैं जो बहते नहीं,
लोग अपने प्यार के बिना रहते नहीं,
हम जानते हैं आपको भी आती है हमारी याद,
पर जाने क्यों आप हमसे कहते नहीं..

जिसकी यादों में रात गुजर जाती है,
जिसकी लिए आँखें भर आती है,
मुश्किल है उसको ये कह पाना,
तेरे बिन धड़कन भी थम जाती है।

दोस्ती यादें हिन्दी में

अपनी यादों की खुसबू भी हमसे छीन लेंगे क्या,
किताब-ए-दिल में अब ये सूखा गुलाब तो रहने दो।

तुझे भूलने की कोशिशें कभी कामयाब न हो सकें,
तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब है, जो हवा चली तो महक गयी।

वो जिंदगी ही क्या जिसमें मोहब्बत नहीं,
वो मोहब्बत ही क्या जिसमें यादें नहीं,
वो यादें ही क्या जिसमें तुम नहीं,
और वो तुम ही क्या जिसके साथ हम नहीं।

जो तूने दिया उसे हम याद करेंगे,
हर पल तेरे मिलने की फ़रियाद करेंगे,
चले आना जब कभी ख्याल आये मेरा,
हम रोज़ खुदा से पहले तुझे याद करेंगे।

एक उम्मीद का दिया जल रहा था,
जिसे अश्कों की बारिश ने बुझा दिया,
तनहा अकेले ख़ुशी से जी रहा था,
आज फिर आपकी याद ने रुला दिया।

कुछ नहीं बाकी बचा है तेरे जाने के बाद,
तड़प उठता है मेरा दिल आ जाये जो तेरी याद,
मायूस हो गया हूँ मैं अपनी सूनी ज़िंदगी से,
कोई तो हो जो समझे मेरे दिल के यह जज़्बात।

मिस यू शायरी इन हिन्दी

यादें आती हैं यादें जाती हैं,
कभी खुशियाँ कभी गम लाती हैं,
शिकवा ना करो जिंदगी से,
आज जो जिंदगी है
वही आने वाले कल की याद कहलाती है।

यादों से दिल भरता नहीं,
दिल से यादें निकलती नहीं,
यह कैसी कशमकश है,
आपको याद किये बिना…
दिल को चैन मिलता नहीं।

हम तेरे दिल में रहेंगे एक याद बनकर,
तेरे लब पर खिलेंगे मुस्कान बनकर,
कभी हमें अपने से जुदा न समझना,
हम तेरे साथ चलेंगे आसमान बनकर।

बेताब से रहते हैं तेरी याद में अक्सर,
रात भर नहीं सोते तेरी याद में अक्सर,
बेदर्द जमाने का बहाना सा बना कर,
हम टूट के रोते हैं तेरी याद में अक्सर।

आज भीगी है पलके किसी की याद में,
आकाश भी सिमट गया हैं अपने आप में,
ओस की बूँद ऐसी गिरी है ज़मीन पर,
मानो चाँद भी रोया हो उनकी याद में।

अब बुझा दो ये सिसकते हुए यादों के चराग,
इनसे कब हिज्र की रातों में उजाला होगा।

आती है ऐसे बिछड़े हुए दोस्तों की याद,
जैसे चराग जलते हों रातों को गांव में।

ठंडी हवाए क्या चली मेरे शहर में,
हर तरफ यादों का दिसंबर बिखर गया।

न्यू यादें शायरी हिन्दी में

यकीन करो मेरा, लाख कोशिशें कर चुका हूँ मैं
ना सीने की धड़कन रुकती है, ना तुम्हारी याद।

तेरी यादों की दुनिया में बहुत महफूज रहते हैं,
जहां न कुछ खोने का डर है न अब कुछ पाने की तमन्ना।

माना कि वक्त के साथ हर चीज पुरानी हो जाती है,
एक तेरी यादें हैं कि हर रोज नई होकर आती हैं।

कुछ दिल में, कुछ कागजों पर किस्से आबाद रहे,
कैसे भूले उन्हें, जो हर धडकन में याद रहे।

नही फुर्सत यकीन मानो…हमे कुछ और करने की,
तेरी यादें… तेरी बाते… बहुत मशरूफ़ रखती हैं।

वक़्त का मरहम हर जख्म को भर देता है,
टूटे ख्वाब यादों के मौसम में दर्द ज़रूर देते हैं।

कलाई पर घड़ी बांध लेने से वक्त नहीं थमता,
उसे जीना पड़ता है, ताकि लम्हा यादो मै कैद हो जाये।

यादें के मौसम

कुछ आँसू होते हैं जो बहते नहीं,
लोग अपने प्यार के बिना रहते नहीं,
हम जानते हैं आपको भी आती है हमारी याद,
पर जाने क्यों आप हमसे कहते नहीं।

उनसे दूर जाने का इरादा तो न था,
साथ साथ रहने  का बादा भी न था,
वो याद आएँगे ये जानते थे हम,
पर इतना याद आयेंगे अंदाजा न था।

मुद्दतें गुजरी और तेरी याद ही ना आयी,
और हम भूल गए हों तुझे ऐसा भी नहीं।

अजीब ज़ुल्म करती हैं
तेरी यादें मुझ पर,
सो जाऊं तो उठा देती हैं
जाग जाऊं तो रुला देती हैं।

क्यों करते हो मेरे दिल पर इतना सितम,
याद करते नहीं तो याद आते क्यों हो?

हम तो हर बार मोहब्बत से सदा देते हैं,
आप सुनते हैं और सुन के भुला देते है,
ऐसे चुभते हैं तेरी याद के खंजर मुझको,
भूल जाऊं जो कभी याद दिला देते हैं।

आज ये कैसी उदासी छाई है,
तन्हाई के बादल से भीगी जुदाई है,
टूट के रोया है फिर मेरा दिल,
जाने आज किसकी याद आयी है।

हमारी यादें हिन्दी में

कुछ दर्द कुछ नमी कुछ बातें जुदाई की,
गुजर गया ख्यालों से, तेरी याद का मौसम।

आ गयी तेरी याद दर्द का लश्कर लेकर,
अब कहाँ जाएं हम दिल-ए-मुज़्तर लेकर।

बूंदे बारिश की यूँ ज़मी पे आने लगी,
सोंधी सी महक माटी की जगाने लगी,
हवाओ में भी जैसे मस्ती छाने लगी,
वैसे ही हमें भी आपकी याद आने लगी।

भुला दिया है मुझे ज़ालिम ने आदतन भी मगर,
वो बात कि जिससे याद आऊँ मुझ में थी भी नहीं।

ये कसमें ये रस्में ये ज़माने का डर,
रुलाएगी मुझे बहुत तेरी याद उमर भर।

एक आरज़ू सी है कि उन्हें भूल जाएँ हम,
मगर उनकी यादों के आगे तो यह हसरत भी हार जाती है।

मजबूरी में नहीं दिल करे तो याद करना,
दुनिया से फुर्सत मिले तो याद करना,
दुआ है ज़माने की हर ख़ुशी मिले आपको,
फिर भी आँख भर आये तो याद करना।

कोई चला गया दूर हमसे तो क्या करे,
कोई मिटा गया सब निशान तो क्या करे,
याद आती है उनकी हमें हद से ज्यादा,
मगर वो याद न करे तो क्या करे।

यादें शायरी हिन्दी में

क्यों कोई मेरा इंतज़ार करेगा,
अपनी ज़िंदगी मेरे लिए बेकार करेगा,
हम कौन सा किसी के लिए ख़ास हैं,
क्या सोच कर कोई हमें याद करेगा।

जिक्र उनका ही आता है मेरे फ़साने में,
जिनको जान से ज्यादा चाहते हैं ज़माने में,
तन्हाई में उनकी ही याद का सहारा मिला,
जिनको नाकाम रहे हम भुलाने में।

तुझे भुलाने की कोशिश तो बहुत की ऐ सनम,
तेरी यादें गुलाब की शाख हैं जो रोज महकती हैं।

हर तरफ जीस्त की राहों में खड़ी धूप है,
बस तेरी याद के साए हैं पनाहों की तरह।

साथ हमारा चाहे पल भर का सही,
पर वो पल ऐसे जैसे कोई कल नहीं,
न हो ज़िन्दगी में शायद फिर मिलना हमारा,
पर महकती रहेंगी तुम्हारी यादें हमारे संग यूँ ही।

हर रात रो रो के उसे भुलाने लगे,
आंसुओं में उसके प्यार को बहाने लगे,
ये दिल भी कितना अजीब है कि,
रोये हम तो वो और याद आने लगे।

किसी कि यादों ने हमें बेहिसाब तन्हा कर दिया,
वरना हम खुद में किसी महफ़िल से कम न थे।

तुझे ये यादें याद आएगी

याद कर के भूलना ही न आया हमें,
किसी के दिल को सताना ही ना आया हमें,
किसी के लिए तड़पना तो सीख लिया,
अपने लिए किसी को तड़पाना न आया हमें।

अभी मशरूफ हूँ काफी, कभी फुरसत से सोचूंगा,
कि तुझको याद रखने में, मैं क्या क्या भूल जाता हूँ।

प्यार करते हैं तुमसे कितना दिखा ना सके,
तुम क्या हो हमारे लिए कभी बता ना सके,
तुम साथ नहीं हो फिर भी,
तुम्हारी याद को कभी हम भुला ना सके।

प्यार करते हैं तुमसे कितना दिखा ना सके,
तुम क्या हो हमारे लिए कभी बता ना सके,
तुम साथ नहीं हो फिर भी,
तुम्हारी याद को कभी हम भुला ना सके।

यादों की कीमत वो क्या जाने,
जो किसी को यूँ ही भुला देते हैं,
यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,
यादों के सहारे जिया करते हैं।

जब से तेरी चाहत अपनी ज़िन्दगी बना ली है,
हम ने उदास रहने की आदत बना ली है,
हर दिन हर रात गुजरती है तेरी याद में,
तेरी याद हमने अपनी इबादत बना ली है।

खुल जाता है तेरी यादों का बाज़ार सरे-आम,
फिर मेरी रात इसी रौनक में गुजर जाती है।

जब भी आपसे मिलने की तक़दीर नज़र आयी,
मुझे पाँव में बँधी ज़ंजीर नज़र आयी,
तेरी याद में निकल पड़े मेरे आँसू,
हर आँसू में तेरी तस्वीर नज़र आयी।

यादों का एक झोका

यूँ तो मुद्दतें गुजार दी हैं,
हमने तेरे बगैर भी मगर,
आज भी तेरी यादों का एक झोका,
मुझे टुकड़ों में बिखेर देता है।

वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे।
दुनिया में हम खुश नसीब होंगे।
दूर से जब इतना याद करते है आपको।
क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे?

कहानी बन के जिए हैं वो दिल के आशियाने में,
हमको भी लगेंगी शादियाँ शायद उन्हें भुलाने में।

ज़ख्म मोहब्बत में हमने खाए हैं,
चिराग उनकी राहों में जलाए हैं,
सबके होंठो पर हैं वो गीत मेरे,
जो उनकी याद में हमने गाए हैं।

यादें उनकी ही आती हैं जिनसे कोई ताल्लुक हो,
हर शख्स मोहब्बत की नजर से देखा नहीं जाता।

शाम होते ही चिरागों को बुझा देता हूँ,
ये दिल ही काफी है तेरी याद में जलने के लिए।

सांस थम जाती है पर जान नहीं जाती,
दर्द होता है पर अबाज़ नहीं आती,
अजीब लोग है इस ज़माने में,
कोई भूल नहीं पाता और किसी को याद नहीं आती।

रख दी कयनात खुदा ने हमारे कदमों में,
मगर हमने तुम्हारी यादों का सौदा नहीं किया।

हर बात समझाने के लिए नहीं होती,
ज़िंदगी अक्सर कुछ पाने के लिए नहीं होती,
याद अक्सर आती है आपकी,
पर हर याद जताने के लिए नहीं होती।

About the author

WikiHi

Leave a Comment